Home > sl.num.29

sl.num.29(2/2) साइकिल सवार एक झटके के साथ जमीन पर आ गिरा…mishra’s lover

Sl.num.29(2) चून्कि वो नवयुवक था,रगो मे गर्म खून दौड रहा था,तो ये सब करना उसे लज्जित कर सकता था| अन्तत्: हुआ ये कि जैसे ही मोटर्साइकिल सवार फरराटे के साथ चौराहा पार

continue reading

sl.num.29(1/2) मैने दोस्ती व भाईचारे के रिश्ते की नीव डाली थी mishra’s lover

Sl.num 29(1) 25 aug 2012 हो सकता है उनके मन मे कुछ सवाल ऐसे भी उठ रहे होन्गे जिनके तहत उन्हे लगता होगा ," कही ये लडका दिमाग से हिला- डुला तो नही है,या फिर कोइ मानसिक बिमारी?" वेसे भी उनके दिमाग

continue reading